बुधवार, 2 सितंबर 2015

इन तरीकों से आप अपने एंड्रायड स्मार्टफोन को कर सकेंगे ठीक

आज के टाइम में स्मार्टफोन जिंदगी का अहम हिस्सा बन चुका है, इसमें जरा भी परेशानी आएं तो माथे पर शिकन आ जाती है, ऐसे में आप फौरन इसे लेकर सर्विस-सेंटर भागते है, अगर फोन वारंटी पीरियड में है तो ठीक है, लेकिन अगर वारंटी पीरियड बीत चुका है, तब तो समझ लीजिए टाइम के साथ एक लम्बा-चौड़ा बिल आपके सिर पर फटने वाला है, लेकिन कभी आपने सोचा है कि आप चाहें तो अपने फोन की छोटी-मोटी परेशानियों को खुद भी ठीक कर सकते हैं। यह कोई रॉकेट साइंस नहीं, बस जरूरत है आपके सजग और सतर्क रहने की और फिर देखिए कैसे थोड़ी सी भी परेशानी आने पर, आप खुद अपने एंड्रायड स्मार्टफोन को ठीक कर लेते हैं। चलिए आज आपको ऐसी कॉमन परेशानियों और उनके समाधान के बारे में बताते हैं, जिन्हें अपनाकर आप खुद अपने एंड्रायड स्मार्टफोन को ठीक कर सकेंगे:

1. गूगल प्ले स्टोर से एप डाउनलोड नहीं हो तो यह करें

एंड्रायड स्मार्टफोन में अक्सर लोगों को शिकायत रहती है कि गूगल प्ले स्टोर से एप्लीकेशन डाउनलोड नहीं हो पाता। अब इसके लिए आपको किसी स्मार्टफोन एक्सपर्ट के पास जाने की जरूरत नहीं आप इसका इलाज खुद कर सकते हैं। इसके लिए बस Google Play store में जाएं, अब स्क्रीन को बाइ ओर से दाइ ओर स्वाइप करें, इधर आपके Setting Button दिखेगा, इसे select करें, यहां पर History को Delete करें। अब बहुत हद तक आपकी प्रॉब्लम सॉल्व हो जाएगी, लेकिन अब भी एप्लीकेशन डाउनलोड नहीं हो रहा तो फोन की setting >Application>All Apps का चुनाव करें। इन एप्स में Google Play Store उपलब्ध होगा। अब आपको बस Google Play Store में जाकर Cached data को Delete कर दें। ऐसा करके एप्लीकेशन डाउनलोड होने लगेगा।

2. पुराना मैमोरी कार्ड लगाने पर फोन गर्म हो जाएं तो यह करें 

बहुत बार देखा गया है कि पुराना मैमोरी कार्ड अगर नए फोन में लगाया जाएं तो फोन काफी गर्म हो जाता है, ऐसे में परेशान होकर इसे लेकर सर्विस सेंटर भागने की जगह, आप बस अपने मैमोरी कार्ड को Format कर दें। Format करने के लिए आप मैमोरी कार्ड को कंप्यूटर से कनेक्ट करके Format करेंगे तो ज्यादा उचित होगा। जब भी मैमोरी कार्ड को कंप्यूटर से कनेक्ट करें तो Format करने से पहले देख लें कि यह फैट32 पर ही Format हो रहा है। बढ़िया परफॉर्मेंस के लिए आप इसे continues दो बार Format करें। अब आप देखेंगे कि मैमोरी कार्ड को मोबाइल के साथ इस्तेमाल करने पर भी वह गर्म नहीं हो रहा।

3. जीमेल के साथ कॉन्टैक्ट्स सिंक नहीं हो तो यह करें

जीमेल Id को डिलीट कर दें और फिर फोन को restart करके, दोबारा आपको अपने कॉन्टैक्ट्स जीमेल के साथ सिंक करने है पर वह हो नहीं रहें तो ऐसे में setting में जाएं और चेक करें कि सिंक का विकल्प ऑन है या ऑफ। अब अगर ऑन है लेकिन फिर भी सिंक नहीं हो रहा तो फोन के साथ Integrated से अपना account add करें। अब आप देखेंगे कि सिंक होना शुरू हो गया है, लेकिन एक संभावना के तहत यह अब भी सिंक नहीं हो रहा है तो अंतिम उपाय है कि फोन को Factory reset कर दें, लेकिन ध्यान दें कि Factory reset से पूर्व फोन के डाटा का बैकअप जरूर ले लें अन्यथा सारा डाटा खो बैठेंगे।

4. ओपन होते ही गूगल प्ले स्टोर क्रैश हो तो यह करें

यह समस्या पुराने एंड्रायड में ज्यादा आती है। बहुत बार Google play store, open होते ही क्रैश हो जाता है। अब अगर बार-बार ऐसा हो रहा है तो फोन की सेटिंग में जाएं, एप्स को सिलेक्ट करें और फिर ऑल एप्स में जाएं। इसमें से अब Google play store का चुनाव करें और फिर Cached data को डिलीट कर दें।

5. अपने फोन का पासवर्ड भूल गए तो यह करें

बहुत बार देखा गया है कि अक्सर लोग अपने ही फोन का पासवर्ड या पैटर्न ड्रा करके भूल जाते हैं ऐसे में जब भी सर्विस सेंटर लेके जाते हैं तो वह इसे हार्ड रिसेट कर देते हैं। यही काम आप खुद भी कर सकते हैं। आप चाहे सर्विस सेंटर जाएं या खुद हार्ड रिसेट करें, इस सिचुएशन में फोन का उपलब्ध डाटा डिलीट होगा ही। हार्ड रिसेट के लिए पहले फोन को स्विच ऑफ करें, फिर पॉवर और वॉल्यूम डाउन बटन को थोड़ी देर तक दबाकर रखें। हार्ड रिसेट का विकल्प आपके सामने उपलब्ध हो जाएगा। अगर फोन में कार्ड का उपयोग कर रहे हैं तो कार्ड निकाल कर उसे हार्ड रिसेट करें।

6. फोन की मैमोरी फुल होने से स्लो हो गया तो यह करें

अपने एंड्रायड स्मार्टफोन में आप इतना कुछ स्टोर करके रखते हैं कि उसकी मैमोरी फुल होना लाजिमी है। वैसे भी टाइम के साथ फोन पुराना हो जाता है, तब मैमोरी की परेशानी बढ़ जाती है, मैमोरी फुल होने से फोन स्लो, हैंग और सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करने में असमर्थ होने लगता है।इन परेशानियों के समाधान के लिए फोन की setting में जाएं, storage को सिलेक्ट करें, अब आपको Cached memory clear करने का विकल्प दिखेगा, इस पर टैप करके क्लियर कर दें। अब भी परेशानी बरकरार है तो फोन के डाटा का बैकअप लेके Factory reset कर दें।

7. अगर फोन लैपटॉप या कंप्यूटर से कनेक्ट नहीं हो तो यह करें

बहुत से फोन्स विंडोज डेस्कटॉप और लैपटॉप से कनेक्ट नहीं हो पातें। ऐसे में जब भी आप फोन को कंप्यूटर या लैपटॉप से से कनेक्ट करें को चेक करें कि नोटिफिकेशन में आपका फोन मीडिया डिवाइस (एमटीपी) पर हो। अगर इतने पर भी कनेक्ट न हो तो setting में जाएं, अब about phone का चुनाव करें। यहां आपको Build Number मिलेगा। इसे कुछ देर तक लगातार प्रेस करते रहें। इसके साथ ही, आपके फोन में डेवलपर्स developers option on दिखने लगेगा। अब फिर से सेटिंग में जाएं और यहां से developers option को चुनें। इसमें डीबगिंग का विकल्प दिखेगा, बस उसे ऑन कर दें। अब आपका मोबाइल कंप्यूटर के साथ कनेक्ट होने के लिए तैयार है।

8. स्मार्टफोन वाइ-फाइ से कनेक्ट नहीं हो तो यह करें

बहुत बार देखा गया है कि फोन वाइ-फाइ से कनेक्ट नहीं हो पाता, तब आप अपने फोन और वाइ-फाइ राउटर को restart करें। ऐसा करते ही वाइ-फाइ कनेक्ट हो जाएगा, लेकिन न हो तो फोन को factory reset कर दें।

9. फोन का यूजर इंटरफेस काम नहीं करें तो यह करें

एंड्रायड स्मार्टफोन में एक आम समस्या यह भी देखी गई है कि user interface काम नहीं करता। इसके लिए setting में जाएं, अब app को सिलेक्ट करें। फिर all app में जाएं और system UI को सिलेक्ट करें। इसमें Cached memory को डिलीट मारें और दोबारा restart करें। अब आपका फोन ठीक से काम करने के लिए तैयार है।



साभार : जागरण

गुरुवार, 13 अगस्त 2015

फेसबुक पर नहीं रखना चाहिए अपना मोबाइल नंबर



फेसबुक यूजर्स अपने मोबाइल नंबर को प्रोफाइल में जोड़ते हैं लेकिन ऐसा करने का मतलब है आपकी प्राइवेसी का खत्‍म होना। दरअसल, फेसबुक के सर्च बॉक्‍स में मोबाइल नंबर के द्वारा कोई भी आपकी प्रोफाइल को खोज सकता है। यानी ऐसे में प्राइवेसी सेटिंग किसी काम की नहीं रह जाती है।
एक इंजीनियर ने फेसबुक की इस कमी का पता लगाने के लिए लाखों की संख्‍या में रैंडम्‍ली जेनरेट किए हुए मोबाइल नंबर्स को फेसबुक के एपीआई पर सर्च किया और बदले में उसे इतने ही रिजल्‍ट भी मिले। इस बात की जानकारी उसने फेसबुक को भी दी है लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है।
फेसबुक पर नया प्रोफाइल पेज बनाने वालों से प्रोफाइल पिक्‍चर के साथ ही मोबाइल नंबर भी जोड़ने के लिए कहा जाता है। हालांकि पुराने यूजर्स को भी नियमित रूप से इस बात के अलर्ट मिलते रहते हैं कि वे अपना मोबाइल नंबर जोड़ लें। ऐसा करने पर कोई भी फेसबुक यूजर (आपकी फ्रेंडलिस्‍ट से बाहर के यूजर्स) आपकी पिक्‍चर, लोकेशन और जानकारी को हासिल कर सकता है। यदि आपने प्राइवेसी सेटिंग में अपने प्रोफाइल को हाइड कर दिया है तब भी आपकी तस्‍वीर को देखा जा सकता है।
पिछले कुछ समय से फेसबुक पर मिलने वाली जानकारियों का दुरुपयोग करने वाले गैंग भी सक्रिय हैं। ये आपकी तस्‍वीरों, नाम, फोन नंबर, शैक्षिक इतिहास और लोकेशन की जानकारी को असामाजिक लोगों के साथ शेयर कर सकते हैं। हैकर्स भी इस तरह की जानकारी का उपयोग करते रहते हैं।
एक साइबर सिक्‍योरिटी फर्म की रिपोर्ट के अनुसार, मौजूदा समय में फेसबुक तथा ट्विटर के अकाऊंट, किसी बैंक खाते या क्रैडिट कार्ड से ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण हो गए हैं और इनकी सुरक्षा आवश्‍यक हो गई है। एजैंसी का कहना है कि फेसबुक को इस खामी के बारे में बताए जाने के बाद भी कोई कदम नहीं उठाया गया है। इस वजह से लगभग 1.44 बिलियन यूजर्स की जानकारी हैकर्स के लिए खुले रूप में उपलब्‍ध है।